Monday, 9 September 2019

CMS क्या है? Content Management System in Hindi



CMS kya hai
CMS क्या है? आज इन्टरनेट पर मौजूद लगभग हर एक डायनामिक वेबसाइट के पीछे कोई न कोई CMS जरुर होता है। यदि आप भी वेबसाइट या ब्लॉग बनाने जा रहे हैं तो आपको भी सीएमएस के बारे में जानकारी जरुर होनी चाहिए।

यदि CMS न हो तो वेबसाइट बनाने में काफी समय लगता है, आपको हर एक छोटे से छोटे काम खुद से कोडिंग करके करना पड़ता है।

Content management system ने website development को बहुत ही आसान बना दिया है इसके जरिये आप कुछ ही मिनटों में एक वेबसाइट तैयार कर सकते हैं।

आज हम इसी वेब कंटेंट मैनेजमेंट के बारे में नीचे दिए गये कुछ जरुरी बिन्दुओं पर बात करेंगे:
आईये इन सभी को विस्तार से समझते हैं।

CMS क्या है? (What is Content Management System in Hindi?)

CMS का full form Content Management System है, यह एक प्रकार का software है जिससे वेबसाइट के content को बिना किसी विशेष technical knowledge के create, update या manage किया जा सकता है।

आप यह जानते हैं की एक वेबसाइट को बनाने में कई सारी coding करनी पड़ती है, कई सारे HTML files create करने पड़ते हैं, डेटाबेस manage करने पड़ते हैं, ये सारे काम यदि manually किया जाय तो इसके लिए आपके पास वेब डेवलपमेंट की अच्छी जानकारी होनी जरुरी है।

लेकिन यदि सीएमएस का उपयोग करें तो आपको ये सारे काम नही करने पड़ेंगे।

आसान शब्दों में कहें तो CMS एक प्रकार का बना बनाया system होता है जहाँ आपको किसी प्रकार की कोडिंग नही करनी पड़ती बस आपको एक आसान से इंटरफ़ेस में अपने कंटेंट लिख कर पोस्ट करने होते हैं।

सीएमएस कैसे काम करता है? (How CMS works in Hindi?)

CMS अपने यूजर को Microsoft Word की तरह एक simple सा GUI (Graphical User Interface) provide करता है जिसके जरिये हम बड़ी आसानी से अपने वेबसाइट पर कंटेंट अपलोड कर पाते हैं।

CMS को experienced programmers द्वारा बनाया गया होता है। इसमें हर एक काम के लिए कई सारे functions के collection बने होते हैं जो की automatically या यूजर के instruction द्वारा काम करते हैं।

उदहारण के लिए यदि आप अपने वेबसाइट पर कोई image upload करना चाहते हैं यह काम आप बिना CMS के कैसे करेंगे? आपको सर्वर पर जाकर डेटाबेस में एक उचित स्थान (फोल्डर) पर अपने इमेज को FTP के जरिये अपलोड करना होगा।

लेकिन यही काम आप सीएमएस के द्वारा चंद सेकंड्स में सिर्फ एक क्लिक करके कर सकते हैं। दरअसल यह इस तरह होता है: जब हम  image को select करके अपलोड बटन पर क्लिक करेंगे तो backend में इससे सम्बंधित function execute हो जायेगा और हमारा इमेज automatically डेटाबेस में सेव हो जायेगा।

ठीक इसी तरह हर एक काम के लिए फंक्शन बने होते हैं, कुछ फंक्शन ऐसे भी होते हैं जो अपनेआप एक्सीक्यूट होते हैं जैसे आपने कोई पोस्ट लिख कर उसे schedule कर दिया है तो यह अपनेआप बताये गये समय पर आपके पोस्ट को publish कर देगा।

कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम के दो भाग होते हैं:
  1. Content Management Application (CMA): आपके कंटेंट को create करने और manage करने की जिम्मेदारी इस CMA की होती है। यह आपके द्वारा input किये गये data या content को डेटाबेस पर store करने का काम करता है।
  2. Content Delivery Application (CDA): इसका काम डेटाबेस से डाटा निकाल कर website के visitors को दिखाना होता है।
ये दोनो पार्ट मिलकर के आपके काम को आसान बना देते हैं।

CMS से कौन-कौन से प्रकार के वेबसाइट बनाये जाते हैं?

सीएमएस के माध्यम से आप लगभग हर प्रकार की वेबसाइट बना सकते हैं। नीचे हमने वेबसाइट के कुछ types बताने की कोशिश की है जिन्हें आप CMS के द्वारा बना सकते हैं:
  • ब्लॉग 
  • सोशल मीडिया वेबसाइट: जैसे फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब आदि।
  • न्यूज़ वेबसाइट 
  • ई-कॉमर्स
  • बिज़नस वेबसाइट 
  • जॉब-पोर्टल
  • पोर्टफोलियो वेबसाइट 
  • बिज़नस डायरेक्टरी
  • ऑनलाइन फोरम
  • रिव्यु वेबसाइट
  • क्लासिफाइड साईट
  • स्टैटिक वेबसाइट 
  • कूपन साईट
  • ऑक्शन वेबसाइट
  • ऑनलाइन एग्जामिनेशन सिस्टम 
  • स्कूल / कॉलेज मैनेजमेंट वेबसाइट
इन सबके अलावा और भी कई प्रकार की वेबसाइट बनायीं जा सकतीं हैं। यदि आपको इन सबके अलावा किसी और प्रकार के वेबसाइट के बारे में पता हो तो हमें कमेंट करके हमें जरुर बताएं।

CMS सॉफ्टवेयर के उदाहरण - (Example of CMS in Hindi?)

वैसे तो सीएमएस के कई सारे प्लेटफार्म हैं लेकिन उनमे से सबसे 3 सबसे best CMS कुछ इस प्रकार हैं:

वर्डप्रेस: यह दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला सीएमएस है। यह उपयोग करने में बहुत ही आसान है। इस प्लेटफार्म का उपयोग करके अब तक करोड़ों websites बनाये जा चुके हैं।

यह PHP में बना हुआ है और इन्टरनेट में उपलब्ध अधिकतर ब्लॉग इसी प्लेटफार्म के द्वारा बनाये गये हैं। यह bloggers की पहली पसंद है।

यहाँ हजारों की संख्या में plugins हैं जिन्हें install करके आप अपने वेबसाइट के features को बढ़ा सकते हैं। रही बात वेबसाइट डिजाइनिंग की तो यहाँ जिन्हें HTML, CSS नही आती वो भी WYSIWYG editor के दवारा बड़ी आसानी से यह काम कर सकते हैं। 

जूमला: यह एक open source CMS platform है। यह वर्डप्रेस की तुलना में थोडा अधिक advanced है। वर्डप्रेस की तरह इसे भी इनस्टॉल करना बहुत आसान है और इस पर काम करना भी आसान है।

यहाँ भी आपको कई प्रकार के plugins और extensions मिल जायेंगे। यदि वेबसाइट की लुक बदलना चाहते हैं तो कई प्रकार के themes भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा आप कुछ paid resources का भी उपयोग कर पाते हैं।

जूमला आपको multilingual support भी provide करता है इसके लिए किसी अतिरिक्त plugin को इनस्टॉल करने की आवश्यकता नही पड़ती।

ड्रुपल: यह भी एक ओपन सोर्स सीएमएस है। इसके user management system, permission settings और security features की वजह से यह बिज़नस वेबसाइट, सरकारी संस्थाओ की साईट, पोर्टल्स आदि के लिए पसंदीदा प्लेटफार्म है।

यदि उपयोग करने में थोडा सा कठिन होता है लेकिन यदि आपको वेब डेवलपमेंट का ज्ञान है तो यह आपके लिए सबसे बेस्ट CMS साबित हो सकता है।

इन तीनो के अलावा Magento (e-commerce), Squarespace, Wix जैसे और भी कई सारे CMS platforms हैं जिनका उपयोग जरुरत के अनुसार किया जाता है। 

सीएमएस से वेबसाइट कैसे बनाये? (How to create website using CMS in Hindi)

किसी भी सीएमएस से वेबसाइट बनाने के लिए कुछ common steps follow किये जाते हैं जो की कुछ इस प्रकार हैं:
  • डोमेन नेम और होस्टिंग खरीदें।
  • होस्टिंग सर्वर में अपने पसंद के content management system को install करें।
  • CMS को आवश्यकतानुसार configure करें।
  • वेबसाइट के लिए theme, extensions और जरुरी plugins को install करें।
  • अब अपना कंटेंट लिखना और अपलोड करना शुरू करें।
ये कुछ आसान से स्टेप्स हैं जिनसे आप बड़ी आसानी से वेबसाइट या ब्लॉग बना सकते हैं।


अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो अपने दोस्तों से साथ जरुर शेयर करें। यदि इस विषय में हमसे कुछ बात करना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार लिखकर हम तक जरुर पहुचाएं।

नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

इस Post से सम्बंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए नीचे comment कीजिये.
EmoticonEmoticon

और पढ़ें: