Friday, 2 June 2017

Web Designing के बारे में जानें Hindi में

Web-design-kya-hai-Hindi

Web design in Hindi - आज आप इस Post में जानेंगे कि Website Designing क्या है, Website design करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखा जाता है, कौन-कौन से tools और technology use किये जाते हैं आदि।

Web design क्या है?

आसान शब्दों में, Web design एक process है जिसमें हम website बनाने के लिये विभिन्न तथ्यों को ध्यान में रख कर planning करते हैं और उसके बाद उस plan के अनुसार website को आकार-प्रकार व रंग रूप प्रदान करते हैं।

Website design करते समय उसके सिर्फ़ रंग रूप पर ही ध्यान नही दिया जाता बल्कि वेबसाईट में उपलब्ध जितने भी जानकारियां व contents हैं वे user को कैसे दिखाई देंगे और काम कैसे करेंगे इस बात का भी ध्यान रखा जाता है।

एक अच्छा Web designer वही होता है जो इस बात का ध्यान रखता है कि user उसके website में क्या देखना चाहता है और उसका primary goal यही होता है कि audience की requirements को समझे और उसे पूरा करे

ऐसा कर पाना तभी संभव होता है जब अच्छे तरीके से website को plan किया जाये, quality content provide किया जाये, और आवश्यक multimedia (image, video, animation आदि) का उपयोग किया जाये।


Website design करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखा जाता है:

Website designing की पूरी प्रक्रिया में विभिन्न प्रकार की तथ्यों को ध्यान में रख कर काम किया जाता है जिनमें से कुछ तथ्य इस प्रकार हैं:

Target audience

सबसे पहली और जरूरी चीज होती है Target audience यानि के आपके वेबसाइट में आने वाले visitors, जब आपको अपने website के audience के बारे में पता चल जाता है तो आपका काम काफ़ी आसान हो जाता है।

इससे आपको समझ आ जाता है कि आपके audience किस प्रकार के हैं वे किस तरह के content को पसंद करते है, अब इसके अनुसार आप आगे अपनी site को design कर पायेंगे।

Example के लिये आप कोई automobile की website बना रहें हैं तो जाहिर सी बात है audience group में वही लोग होंगे जो car आदि पसंद करते हैं, तो इससे आपको उनके interest के बारे में पता चलता है, इससे पता चलता है कि वे आपकी साइट से किस प्रकार की जानकारी चाहते हैं, अब आप अपनी site में सिर्फ़ उन्ही चीजों को डालेंगे जो car पसंद करने वाले व्यक्ति के काम की हो।

Information architecture: 

आपको ये पता चल चुका है कि आप को कैसी जानकारियां अपने site में publish करनी है, लेकिन उन जानकारियों को किस format में आप अपने audience तक पहुंचायें कि वह देखने और पढने में और भी ज्यादा interesting लगे इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है।

Layout:

Website के structure या ढांचे को ही उसका layout कहा जाता है, layout डिजाईन करते समय वेबसाइट के अलग-अलग sections जैसे header, sidebar, content, footer आदि के height-width, position आदि को ध्यान में रख कर structure को कुछ ऐसे design किया जाता है कि हम अपने site के information को सही तरीके से user को present कर पायें।

Navigation: 

किसी भी site में एक effective navigation का होना बहुत ही जरूरी है|

Navigation से ही visitor को पता चलता है उसे जिस प्रकार की जानकारी चाहिये वो कहां और किस page में उपलब्ध है।

एक अच्छे navigation को simple, साधारण और समझ में आने योग्य होनी चाहिये

Navigation को कई तरीके से बनाया जा सकता जैसे की header, sidebar या footer में link डालकर या फ़िर अलग से एक menu बनाकर pages के links को अलग-अलग category में divide करके दिखा सकते हैं जिससे की user को उसकी मनचाही चीजें ढूंढने में आसानी हो।

Navigation की design उस साइट की सभी pages में समान होनी चाहिये।

Graphics:

आपने सुना होगा की एक तस्वीर अपने आप में हजारो शब्द बयां करती हैं, ऐसे ही बिना चित्रों के आपकी वेबसाइट नीरस तथा उबाऊ लग सकती है और visitor 5 seconds में ही आपकी साइट बंद कर के कहीं और चला जायेगा

Images use करने से आपकी साइट दिखने में अच्छी तो लगेगी ही इसके अलावा graphics से आपकी website की SEO (Search Engine Optimization) भी improve होगी। 

ग्राफ़िक्स का use करते समय हमें कई बातो का ध्यान रखना जरूरी होता है जैसे:
  • Image format
  • Resolution
  • Size
  • Height-Width 
  • Color combination
आपके वेबसाइट के चित्र दिखने में attractive होने तो चाहिये इसके अलावा यह content से related और जल्दी से load भी होने चाहिये।

Colors: 

जब भी हम अपनी website design करते हैं तो हमें color combination का भी ध्यान रखना पडता है, आपने देखा होगा कि ज्यादतर websites में maximum 3 या 4 colors ही use किया जाता है जिससे वह साईट और भी professional दिखाई देता है।

उपयोग होने वाले images, fonts, backgrounds आदि के color को पहले से तय किये गये color combination के हिसाब से ही चुना जाता है और सभी pages में वही combination use होता है।

Fonts:

जाहिर सी बात है अगर fonts clear और पढने लायक ना हो तो हमारी website किसी काम की नही है, इसके अलावा जो fonts हम अपने system में MS-Word आदि में देखते हैं, जरूरी नही कि उन सभी को हम अपनी website में उपयोग कर पायेंगे।

Font चुनते समय हमारे पास 2 options होते हैं:
  • हम उन्हीं common fonts का use करते हैं जो user के system में पहले से installed होते हैं या
  • Web fonts का उपयोग करते हैं जिसमें हमें fonts को अपने site में ही include करना होता है
इन सब के अलावा हमें font size, color, bold हो या light हो, content के situation से match कर रहा है या नही इन सभी बातों को भी ध्यान में रखा जाता है।

Website Design करने के लिये क्या सीखना जरूरी है?

आजकल website बनाना बहुत ही आसान हो गया है, internet पर कई सारे ऐसे tools हैं जिनकी मदद से आप बिना कोई programming किये आसानी से अपना वेबसाइट बना सकते है|

लेकिन अगर आप एक professional web designer बनना चाहते हैं, आप चाहते हैं कि किसी भी तरह की website हो आप उसे design करलें और सिर्फ़ डिजाइन नही बल्कि उसके अन्दर की सारी functionality को भी आप समझ सकें, तो इसके लिये आपके अन्दर थोडी सी programming skills होनी जरूरी है।

घबराइये नही, web design सीखना बहुत ही आसान और मजेदार है। 

वैसे तो website designing में कई सारी technologies हैं पर सबसे पहले आप नीचे दिये कुछ जरूरी चीजों से सीखना शुरु करें:
  • HTML
  • CSS
  • Basic Javascript (Optional)
  • jQuery

HTML

यानि की HyperText Markup Language, यह सबसे जरूरी और पहली चीज है किसी वेबसाइट को बनाने के लिये।

इससे website का layout यानी की structure तैयार किया जाता है

यकीन मानिये यह सीखने में बहुत ही आसान है, और इसे सीख कर आप एक simple web page कुछ ही मिनटो में तैयार कर सकते हैं। आप सिर्फ़ 20 minutes में basic HTML सीख सकते है

CSS

आपको HTML सीखने के बाद CSS (Cascading Style Sheets) सीखना आवश्यक है क्यों कि आप सिर्फ़ HTML से अपने वेबसाइट को attractive नही बना सकते

HTML से website का ढांचा तैयार किया जाता है फ़िर CSS से उसमें सजावट की जाती है यानि की रंग रोगन का सारा काम CSS से होता है।

इसे सीखना HTML से भी ज्यादा मजेदार होता है, पर हां इसे सीखने से पहले HTML जरूर सीखें क्योंकि अकेला CSS कुछ भी नही कर सकता।

Javascript:

वैसे तो यह इतना आवश्यक नही है, आप HTML+CSS से बेहतरीन design बना सकते हैं| लेकिन अगर आप कुछ नये functionalities add करना चाहते हैं जैसे की आपने देखा होगा किसी साइट में कुछ forms होते हैं, contact form, registration form आदि जिसको fill करके submit करने पर बिना पेज reload हुये हमारा data submit हो जाता है, इस तरह की चीजों को javascript से बनाया जाता है।

jQuery

Javascript के कुछ common tasks को और आसान बनाने के लिये jQuery का use किया जाता है।

यह Javascript से आसान होता है।

जिस काम को करने के लिये Javascript में कई सारे lines of code लिखने पडते हैं उसे हम jQuery में आसानी से कुछ ही लाइनो में कर सकते हैं।

Web design में use होने वाले tools:

इसके लिये कई सारे tools होते हैं, designing के लिये अलग, coding के लिये अलग tools use किये जाते हैं। जरूरी नही की आप इन्हीं tools का इस्तेमाल करें, designer अपने हिसाब से अपनी पसंद की tools select करते हैं।

यहां नीचे कुछ popular web designing tools की list दी जा रही है जो beginners के लिये उपयोगी हैं:

Designing के लिये tools:

  • Photoshop
  • Corel Draw

Coding के लिये text editors:

  • Notepad++
  • Dreamweaver

Web browsers:

  • Chrome
  • Firefox
  • Safari
  • Opera
ये सारे टूल्स शुरुआत के लिये श्रेष्ठ हैं जिसे सीखने के बाद और भी कई सारे tools हैं जिनके बारे में हम आगे आपको इस blog में बतायेंगे।

आपको हमारा ये article "Web Designing के बारे में जानें Hindi में" कैसा लगा, आपको इस post से जुडे कोई सवाल पूछना हो या आप इस blog के लिये कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो हमें comment के माध्यम से जरूर बतायें।

नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ| यह एक मात्र blog है जहाँ से आप web design & development के tutorials हिंदी में प्राप्त कर सकते हैं| अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

इस Post से सम्बंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए नीचे comment कीजिये.
EmoticonEmoticon