Thursday, 2 August 2018

Server क्या है? इसका क्या उपयोग है? यह कैसे काम करता है?



Server क्या है? what is server in Hindi? आपने सर्वर शब्द कहीं न कहीं जरुर सुना होगा यदि आप ऑनलाइन फॉर्म भरते हैं तो आपको यह जरुर पता होगा की फॉर्म भरने की अंतिम तारीख में फॉर्म भरने की वेबसाइट का server down हो जाता है। बैंक में लेन-देन करने जाते हैं तो आपने कभी-न-कभी बैंक के कर्मचारी से यह कहते जरुर सुना होगा की आज बैंक का सर्वर डाउन है। आज हम इसी computer server के बारे में बात करेंगे की आखिर सर्वर क्या होता है और इसका क्या काम है? यह कितने प्रकार का होता है? यह कैसे काम करता है? इसके लिए कौनसे hardware और operating system की जरूरत होती है? server की पूरी जानकारी के लिए इस लेख को जरूर पढ़ें।

server kya hai
सर्वर क्या है? What is server in Hindi? Networking में server एक प्रकार का कंप्यूटर होता है जिसका काम data store करना और network से connected दुसरे computers और devices (जिन्हें client कहा जाता है) को service provide करना होता है।

जब client को किसी प्रकार की जानकारी या data की जरूरत होती है तो वह उससे सम्बंधित सर्वर से संपर्क स्थापित करके उसे उस जानकारी को प्राप्त करने के लिए request भेजता है, रिक्वेस्ट मिलते ही सर्वर कुछ जरुरी process करने के बाद क्लाइंट को जवाब में वह डाटा भेज देता है।

Server का मतलब किसी hardware से भी हो सकता है या software से भी या यह दोनों भी हो सकते हैं। हार्डवेयर की बात करें तो एक powerful processor और स्टोरेज के लिए hard disk सबसे मुख्य भाग होते हैं वहीं सॉफ्टवेयर की बात करें तो ये कुछ ऐसे programs होते हैं जो कि सर्वर के हार्डवेयर का सही तरीके से उपयोग करके अलग-अलग प्रकार के functions और services provide करते हैं।

सर्वर अधिकतर dedicated होते हैं यानी की ये 24 घंटे हमेशा internet से connected रहते हैं और अधिकतर सिर्फ सर्वर का ही काम करते हैं इसके अलावा इस system से कोई भी दूसरा काम नही लिया जाता।

आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में server software install करके उसे भी सर्वर बना सकते हैं लेकिन इस प्रकार के सर्वर को non-dedicated server कहेंगे क्योंकि ये बिना बंद हुए लगातार 24 घंटे काम नही कर सकते।


सर्वर का क्या उपयोग है? किसी भी organization में server का बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य होता है और यह कई सारे जरुरी काम को आसान तरीके से करने में मदद करता है। इसमें install किये गये powerful programs कई तरह के complex tasks जैसे calculation, transactions, billing आदि को security और privacy का ध्यान में रखते हुए कुछ ही seconds में perform कर देते हैं।

सर्वर का मुख्य काम नेटवर्क से जुड़े devices के बीच data या resource शेयर करना होता है इसके अलावा जरुरत के हिसाब से यह कुछ special task को perform करने के लिए किसी विशेष program को run कर सकता है। वैसे तो इसके कई सारे काम होते हैं लेकिन उनमे से कुछ काम इस प्रकार हैं:
  • Client के request को handle करना 
  • Network resources को मैनेज करना 
  • Data storage और transmission के लिए
  • Website hosting के लिए
  • Online video streaming के लिए 
  • Online gaming के लिए
  • Bank में complex transactions के लिए 
आजकल लगभग हर industry, हर office में कम से कम एक सर्वर जरुर इनस्टॉल किया जाता है और उससे ऑफिस के सारे divides को manage किया जाता है इसके अलावा इसके जरिये एक ही डिवाइस जैसे किसी प्रिंटर को वहाँ नेटवर्क से connected कोई भी computer print command दे सकता है।

सर्वर कितने प्रकार के होते हैं? Types of server in Hindi Server के कई सारे प्रकार होते हैं और सभी अलग-अलग काम के लिए उपयोग किये जाते हैं। इनमे से कुछ ज्यादातर use होने वाले servers के बारे में आप नीचे पढ़ सकते हैं:
  • Web Server: वेब सर्वर HTTP protocol के जरिये किसी web page को आपके browser पर दिखाने का काम करता है। अभी आप एक वेब सर्वर से connected हैं जिसकी वजह से आप यह पेज देख पा रहे हैं।
  • Application Server: यह computer program होता है जो की user और database के बीच चलने वाले applications को manage करता है इसका उपयोग ज्यादातर complex transaction-based application में किया जाता है जब आप बैंक से लेन-देन कर रहे होते हैं तब आप application server का use कर रहे होते हैं।
  • Mail Server: mail send और receive करने के लिए मेल सर्वर का उपयोग होता है।
  • FTP Server: File Transfer Protocol (FTP) के जरिये client और server के बीच file transfer किया जाता है इस दौरान privacy और security का ध्यान रखा जाता है। 
  • Print Server: इस द्वारा हम एक ऑफिस के किसी एक प्रिंटर को वहां के सारे computers से जोड़ सकते हैं ताकि सभी उसका उपयोग कर सकें।
  • Online Gaming Server: गेमिंग सर्वर आजकल काफी popular हो रहा है यह दुनियाभर के gamers को एक साथ जुड़ने और गेम खेलने की सुविधा प्रदान करता है। 
  • Proxy Server: यह user के कंप्यूटर और इन्टरनेट के बीच intermediate का काम करता है इसका उपयोग performance enhancement, privacy और anonymous surfing के लिए किया जाता है।
इन सबके अलावा और भी कई तरह के सर्वर जैसे sound server, fax server, database server, cloud sever, name server (DNS) आदि समय और जरुरत के अनुसार काम में लिए जाते हैं।

Server कैसे काम करता है? How server works in Hindi Server कैसे काम करता है यह समझने के लिए आपको client-server model कैसे काम करता है यह समझना होगा। यहाँ हम web server का example लेते हैं, मान के चलिए की आप फेसबुक की वेबसाइट open करना चाहते हैं इसके लिए आप अपने वेब ब्राउज़र पर जा कर Facebook का website address डालकर enter press करते हैं इसके बाद सबसे पहले DNS (Domain Name Server) को request जाएगा DNS आपके browser को फेसबुक की IP address provide करेगा।

अब उस आईपी एड्रेस के जरिये ब्राउज़र को Facebook के सर्वर का पता चलेगा और उस सर्वर को रिक्वेस्ट भेजा जायेगा request मिलते ही सर्वर Facebook के web page को ढूंढ कर आप तक पहुँचा देगा। यही तरीका होता है client-server के काम करने का।

सर्वर बनाने के लिए कौन-कौन से हार्डवेयर की जरुरत होती है? एक server में कौन-कौन से hardware use होंगे यह depend करता है की आप इसे किस काम के लिए बना रहे हैं और इस पर कौनसा software use करने वाले हैं। जरुरत के अनुसार आपको कम या अधिक capacity वाले hardware की जरुरत होगी।

कुछ server हमारे आम कंप्यूटर से बिलकुल अलग होते हैं उनमे न तो monitor होता है, न ही audio के लिए कोई हार्डवेयर और इसे access करने के लिए किसी remote computer का उपयोग होता है, कुछ सर्वर में मॉनिटर तो होते हैं लेकिन उसपर GUI (Graphical User Interface) नही होता उसे केवल commands के जरिये चलाया जाता है। एक server को उपयोग करने से पहले उसके storage, RAM, processor, operating system का खास ध्यान रखा जाता है।

क्या हम खुद से सर्वर बना सकते हैं? आप चाहें तो अपने laptop या computer को एक server में बदल सकते हैं इसके लिए आपको अपने system में server operating system install करना होगा।  कुछ लोग अपने पुराने system को server बना कर उसमे अपनी website भी host कर देते हैं इस प्रकार के सर्वर को आप छोटे-छोटे काम के लिए use तो कर सकते हैं लेकिन यदि किसी organization या business level की बात करें तो आपको इस काम के लिए dedicated server का ही उपयोग करना चाहिए जो की 24 घंटे data को store, manage और transmit करने के लिए high capability और reliable hardware से बने होते हैं।

सर्वर में कौन सा Operating System उपयोग होता है? जिस प्रकार से हमारा लैपटॉप या कंप्यूटर बिना किसी operating system के नही चलता ठीक वैसे ही एक server को चलाने के लिए भी OS की जरुरत पड़ती है। सर्वर के लिए कुछ अलग तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करना होता है जो की client-server model पर सही तरह से काम करने के लिए बनाये गये होते हैं। कुछ popular server OS इस प्रकार हैं:
  • Window Server 2000
  • Window Server 2003
  • Window Server 2008
  • Window Server 2012
  • Window Server 2016
  • Linux 
  • Red Hat Enterprise Linus (RHEL)
  • Mac OS X server
  • Solaris
अगर आप कोई छोटा सा बिज़नेस चलाते हैं, अपने ऑफिस में 3-4 computers हैं और बहुत ज्यादा data आपको store करना होता है तो इस स्थिति में आपको किसी बढिया server OS के साथ एक सर्वर जरुर सेट कर लेना चाहिए।


Networking में server बहुत ही important part होता है वहीँ इसका सही तरीके से काम करने के लिए 24/7 बिना shut down हुए uptime रहना जरुरी है।  कभी-कभी हद से अधिक traffic या maintenance schedule की वजह server down हो जाता है इस स्थिति में website पर आपने "under maintenance" का message जरुर देखा होगा।


अगर आपको यह आर्टिकल Server क्या है? इसका क्या उपयोग है? यह कैसे काम करता है? अच्छा लगा हो तो हमें कमेंट के माध्यम से जरुर सूचित करें। यदि कोई सर्वर से जुड़े प्रश्न आपके मन में है तो हमें जरुर बताएं।

नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ| यह एक मात्र blog है जहाँ से आप web design & development के tutorials हिंदी में प्राप्त कर सकते हैं| अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

इस Post से सम्बंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए नीचे comment कीजिये.
EmoticonEmoticon