Friday, 1 March 2019

वेबसाइट और ब्लॉग में क्या अंतर है? आपको क्या बनाना चाहिए? Website Vs Blog in Hindi



website-vs-blog-in-hindi
इससे पहले हमने ब्लॉग और वेबसाइट को समझाने के लिए दो अलग-अलग articles लिखे थे, एक में हमने बताया था की वेबसाइट क्या होता है? और दूसरे में हमने लिखा था की ब्लॉग क्या होता है और लोग ब्लॉगिंग क्यों करते हैं?

हमने बताया था की blog एक तरह का website ही है, लेकिन यहाँ पर confusion यह है की यदि ब्लॉग website है तो ब्लॉग और वेबसाइट में क्या अंतर है?

दरअसल ब्लॉग और वेबसाइट में कुछ समानताएं भी हैं जैसे:
  • दोनों के लिए domain और hosting की जरूरत पड़ती है।
  • इन दोनों को access करने के लिए web address यानि URL की जरूरत होती है।
  • दोनों में text, image, videos और graphics और links का उपयोग होता है।
कुछ लोग खुद की वेबसाइट या ब्लॉग शुरू करना चाहते हैं लेकिन वे इस दुविधा में फंस गए हैं की आखिर इन दोनों में से बेहतर क्या है? और उन्हें समझ में नही आ रहा की उन्हें website बनाना चाहिए या ब्लॉग?

ऐसे सवाल कई लोगों के मन में आते हैं इसलिए आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से इस सवाल का जवाब देने की कोशिश की है।

यदि आप भी blog और website के बीच difference को समझना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को जरुर पढ़ें।

इसे समझने के लिए यहाँ आज हम नीचे दिए गये कुछ बातों पर चर्चा करेंगे:
  • वेबसाइट और ब्लॉग में क्या अंतर है?
  • वेबसाइट बनाएं या ब्लॉग? दोनों में बेहतर कौन है?
  • क्या हम वेबसाइट और ब्लॉग दोनों बना सकते हैं?
तो चलिए अब हम इन सवालों के जवाब विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं। इनके अलावा यदि आपके मन में भी इस विषय से सम्बंधित कुछ सवाल है तो नीचे कमेंट करके हमें जरुर बताएं।


वेबसाइट और ब्लॉग में क्या अंतर है? Website Vs Blog in Hindi

अगर संक्षेप में कहें तो "सारे blogs वेबसाइट हैं लेकिन सभी websites ब्लॉग नही हो सकते"  यानि ब्लॉग को भी वेबसाइट कहा जा सकता है।

अभी भी confused हैं?

चलिए इसे और विस्तार से समझते हैं और सबसे पहले तो जान लेते हैं की आखिर वेबसाइट और ब्लॉग होते क्या हैं और इनकी पहचान क्या है।

Website क्या है?
एक website या site कई सारे related web pages का एक collection होता है। यानि की एक वेबसाइट कई सारे पेज से मिलकर बना होता है और इन pages को हम वेबसाइट के home page से access कर सकते हैं।

यदि आप कोई बिज़नस या आर्गेनाइजेशन चलाते हैं तो आपके पास एक वेबसाइट जरूर होना चाहिए। आजकल लगभग हर संस्था के लिए वेबसाइट जरुरी है। इसपर आप अपने कामकाज के बारे में और अपने बारे में लोगों को बता कर अपने प्रोडक्ट या सेवाओं के प्रति उनका भरोसा जीत सकते हैं।

वेबसाइट बनाने का सबसे बड़ा goal brand build करना होता है इससे आपके बिज़नस की पहचान बढती है और कस्टमर का आपके प्रति भरोसा बढ़ता है।

वेबसाइट के examples:
  • E-commerce sites: जैसे फ्लिप्कार्ट, अमेज़न, e-bay आदि।
  • Social networking sites: Facebook, Twitter, Instagram आदि।
  • Forums: Quora, Google forum, Stackoverflow आदि।
एक वेबसाइट की क्या पहचान है?
  • Website दिखने में professional होता है और यह किसी organization की पहचान बताता है। जैसे: Amazon, Microsoft, Google आदि।
  • वेबसाइट किसी संस्था, स्कूल, यूनिवर्सिटी आदि द्वारा अपने काम और पते के बारे में जानकारी देने के लिए भी बनायीं जाती है।
  • इसमें किसी प्रोडक्ट या सर्विस की जानकारी हो सकती है। और उसे ऑनलाइन खरीदने की सुविधा भी हो सकती है। उदाहरण के लिए: Flipkart, PayTM आदि।
  • इसमें registration form हो सकता है।
  • यूजर Login या register कर अपना अकाउंट बना सकते हैं।
  • कई बार यूजर को वेबसाइट के content को access करने के लिए login करना जरुरी होता है।
  • ज्यादातर websites में one-way communication होता है यानि वेबसाइट की तरफ से information दी जाती हैं लेकिन user उस साईट पर अपनी बात नही रख पाता। यानि comment करने की सुविधा नही होती।
  • लेकिन इसपर एक contact form हो सकता है जिससे visitors आपको messages भेज सके।
ब्लॉग क्या है?
ब्लॉग वेबसाइट का ही एक प्रकार है। यह एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ ब्लॉगर समय-समय पर लेख लिखकर लोगों तक विभिन्न विषयों के बारे में जानकारियाँ और अपने विचार साझा करता है।

ब्लॉग टेक्नोलॉजी, न्यूज़, राजनीती, शिक्षा जैसे किसी भी विषय पर लिखा जा सकता है यह पूरी तरह से ब्लॉग लिखने वाले के intrest पर निर्भर करता है। 

इसे किसी एक व्यक्ति या एक समूह द्वारा चलाया जा सकता है। आजकल कंपनियां अपने प्रोडक्ट या सर्विस के प्रचार के लिए ब्लॉग पर आर्टिकल लिख कर अपनी सेवाओं के बारे में बताती हैं और लोगों को आकर्षित कर कस्टमर बनाने की कोशिश करती हैं।

ब्लॉग बनाने का उद्देश्य लोगों तक अपना opinion पहुँचाना, काम की जानकारी देना, अपने customers से बात करना उन्हें engage रखना और उन्हें भी अपनी बात रखने का मौका देना और उन्हें समझना होता है।

एक ब्लॉग की क्या पहचान है?
  • Blog पर articles लिखे जाते हैं जिन्हें ब्लॉग पोस्ट कहा जाता है।
  • ब्लॉग पोस्ट को chronologial यानि date के अनुसार एक लिस्ट में दिखाया जाता है (सबसे नया पोस्ट पहले दिखाई देता है)
  • ब्लॉग के कंटेंट अपडेट होते रहते हैं और ब्लॉगर द्वारा समय-समय पर नए पोस्ट डाले जाते हैं।
  • हर पोस्ट के नीचे एक comment system होता है जहाँ विजिटर अपने comments share कर सकता है।
  • ज्यादातर कंटेंट informative और एजुकेशनल होते हैं।
  • कंटेंट को अगल-अलग categories में बाँटा जाता है।
  • इस पर एक subscription system भी होता है जिसे subscribe करने पर यूजर को नए post publish होने पर ईमेल द्वारा जानकारी दी जाती है। 
  • ब्लॉग किसी वेबसाइट का एक हिस्सा भी हो सकता है।

वेबसाइट बनाएं या ब्लॉग? दोनों में बेहतर कौन है?

इस सवाल का जवाब देना काफी मुश्किल है। क्योंकि इन दोनों के काम करने का तरीका अलग-अलग है, और इनका उपयोग भी अलग-अलग उद्देश्य के लिए किया जाता है।

आपको ब्लॉग बनाना चाहिए या वेबसाइट इस बात का निर्णय तो आपको ही लेना है लेकिन सही decision लेने में नीचे दी गयीं कुछ बातें आपकी मदद कर सकतीं हैं:
  • अगर आपको लिखना पसंद है और किसी विषय पर लगातार नई-नई जानकारियां लिख सकते हैं तो आपको ब्लॉग शुरू करना चाहिए।
  • वेबसाइट evergreen contents के लिए बेहतर है क्योंकि इसे ज्यादा update करने की जरुरत नही पडती और हमेशा नये articles लिखते रहने का दबाव भी नही होता।
  • किसी ब्लॉग को website के मुकाबले ज्यादा आसानी से update किया जा सकता है।
  • आप यदि ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचना चाहते हैं तो आपको e-commerce की वेबसाइट बनानी चाहिए।
  • यदि आप किसी क्षेत्र में expert हैं और आप अपना अनुभव लोगों तक साझा करना चाहते हैं तो आपके लिए ब्लोगिंग बेहतर है।
  • यदि आपका कोई बिज़नस या आप कोई कंपनी चलते हैं और इन्टरनेट पर सिर्फ औपचारिक जानकारी जैसे आपकी क्या-क्या services हैं, आपके office का address क्या है, पिछले projects के portfolio आदि के बारे बताना चाहते हैं तो आपके लिए वेबसाइट बेहतर होगा।
  • आप कोई proffesional व्यक्ति हैं और अपने काम के बारे में लोगों को बताना चाहते हैं या online resume बनाना चाहते हैं तो आप एक वेबसाइट बनायें और अपना portfolio उस पर डालें, यह आपको नई नौकरी या प्रोजेक्ट पाने में आपकी सहायता कर सकता है।

क्या हम वेबसाइट और ब्लॉग दोनों बना सकते हैं?

हाँ! बिलकुल आप ऐसा कर सकते हैं। उदहारण के लिए आप मोबाइल बेचने और रिपेयर करने का बिज़नस करते हैं तो आप एक वेबसाइट बना कर उसपर अपना professional logo लगा कर और अपने service के बारे में बता कर अपने business की branding कर सकते हैं।

इसके अलावा आप साथ में एक ब्लॉग भी बना सकते हैं जिसपर आप मोबाइल के बारे में लोगों को बता सकते हैं, मोबाइल के reviews, tutorials, tips आदि डाल सकते हैं।

आप smartphone में आने वाली छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान बता सकते हैं। इससे आपको फायदा यह होगा की लोग आपके बारे में जानने लगेंगे और इससे एक प्रकार का relationship build होगा और लोग आप पर trust करने लगेंगे। और अगली बार कोई फ़ोन से जुडी कुछ समस्या आने पर वे आपसे संपर्क करेंगे, इस तरह आप नये customers भी बना सकते हैं।

आगे पढ़ें:

हमें उम्मीद है इसे पढ़ें के बाद आपको समझ आ गया होगा की वेबसाइट और ब्लॉग के बीच क्या अंतर है और आपको अपने online presence के लिए इनमे से किसका चुनाव करना चाहिए।

इसके बावजूद भी यदि को समस्या हो तो हमें जरूर बताएं, यदि इससे जुड़े कुछ सुझाव देना चाहते हैं तो भी आप नीचे कमेंट करके हम तक अपनी बात पहुँचा सकते हैं।

नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ। इस ब्लॉग से आप वेब डिजाईन, वेब डेवलपमेंट से जुड़े जानकारियां और tutorials प्राप्त कर सकते हैं। अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

इस Post से सम्बंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए नीचे comment कीजिये.
EmoticonEmoticon

और पढ़ें: