Monday, 4 December 2017

Bootstrap क्या है? क्या इसे सीखना जरूरी है?


Bootstrap in Hindi:अगर आप web design में interested हैं तो आपने Bootstrap का नाम जरूर सुना होगा| किसी भी web designer के लिए यह एक बहुत ही important tool है जिसका उपयोग करके बहुत ही आसान तरीके से और तेज गति से वेबसाइट को डिजाईन किया जा सकता है|

आज आप इस article में जानेंगे की Bootstrap क्या है और आपको वेबसाइट बनाने के लिए इसका use क्यों करना चाहिए आखिर इसके क्या फायदे हैं|

Bootstrap क्या है?

Bootstrap एक प्रकार का framework है जिसे HTML, CSS और Javascript से बनाया गया है जिसका उपयोग responsive और mobile friendly website बनाने के लिए किया जाता है|

Bootstrap को Twitter कंपनी के employee Mark Otto और Jacob Thornton ने अपनी एक टीम के साथ मिलकर बनाया था |

शुरुआत में उन्होंने इसे Twitter Blueprint नाम दिया था क्योंकि वे इसे Twitter के लिए एक internal tool की तरह उपयोग करना चाहते थे लेकिन बाद में उन्होंने इसे 19 अगस्त 2011 में एक open source project के रूप में GitHub पर Bootstrap के नाम से release कर दिया ताकि दुसरे लोग भी इसका use कर इसका फायदा ले सकें|

देखते ही देखते यह बहुत ज्यादा popular हो गया और आज पूरी दुनिया के developers responsive website design करने के लिए इसका उपयोग करते हैं|

वैसे तो इस प्रकार के कई सारे frameworks हैं लेकिन Bootstrap उनमे से सबसे ज्यादा popular और सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला framework है|

Bootstrap काम कैसे करता है?

जब कोई वेब डिज़ाइनर Bootstrap से वेबसाइट डिजाईन करता है तब उसे बहुत ज्यादा coding करने की जरूरत नही पड़ती क्योंकि बूटस्ट्रैप में पहले से ही कई सारे codes दिए गये होते हैं जिन्हें HTML page पर सिर्फ reuse किया जाता है| 

Bootstrap में CSS के कई सारे predefined classes होते हैं जिन्हें आसानी से अपने पेज पर call करके use किया जा सकता है|

Bootstrap एक grid system पर काम करता है जो की पूरे पेज को बराबर columns और rows में divide करता है| सभी rows और columns के लिए अलग-अलग CSS classes बनाये गये हैं जिन्हें जरूरत के अनुसार अपने web page पर उपयोग किया जा सकता है|

Bootstrap से website design करने के क्या फायदे हैं?


  • समय की बचत: Bootstrap का यह सबसे बड़ा advantage है की इसका use करने से development speed बढ़ जाती है और बहुत ही कम समय में काम हो जाता है इसके विपरीत यदि आप खुद से बिना बूटस्ट्रैप के responsive design बनाना चाहते हैं तो आपको इसमें काफी समय लग सकते हैं|
  • Use करना आसान है: यदि आपको HTML और CSS की basic knowledge है तो आप बड़ी आसानी से बूटस्ट्रैप का उपयोग कर सकते हैं|
  • Responsive Design: बूटस्ट्रैप के माध्यम से आप बड़ी आसानी से responsive design बना सकते हैं| यदि आपकी वेबसाइट responsive है तो वह किसी भी platform या device जैसे desktop, laptop, mobile आदि में screen size के हिसाब से अपने आपको adjust कर लेती है|
  • Cross Browser Compatible: Bootstrap को इस तरह बनाया गया है की यह हमारा वेबपेज लगभग सभी modern browsers जैसे Firefox, Chrome, Internet Explorer, Opera आदि में एक समान दिखाई देगा|
  • Open Source: इसकी सबसे बढिया बात यह है की आप इसे free में उपयोग कर सकते हैं |

आज आपने इस article Bootstrap क्या है? क्या इसे सीखना जरूरी है? में  Bootstrap की basic जानकारी हासिल की लेकिन इसके बाद हम आपको Bootstrap से responsive website बनाने की जानकारी भी देंगे तो यदि आप interested हैं तो नीचे जाकर इस वेबसाइट के newsletter को subscribe कर सकते हैं जिससे अगला article सीधे आपके e-mail पर पहुँच जाएगा|

नमस्कार, मैं विवेक, WebInHindi का founder हूँ| यह एक मात्र blog है जहाँ से आप web design & development के tutorials हिंदी में प्राप्त कर सकते हैं| अगर आपको हमारा यह ब्लॉग पसंद आये तो आप हमें social media पर follow कर हमारा सहयोग कर सकते हैं|

This Is The Newest Post

इस Post से सम्बंधित किसी भी तरह का प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए नीचे comment कीजिये.
EmoticonEmoticon